भारत व्यापार

भारत के 5 राज्य ऐसे है, जहां पर सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स रहते हैं

खबर शेयर करें

ग्रोह हुरून इंडिया के मुताबिक, भारत के सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स पांच राज्यों में सबसे ज्यादा रहते हैं. इन रियल एस्टेट डेवलपर्स की घरों की कीमत करोड़ों में रहती है. आइए जानते हैं, भारत के सबसे अमीर रियल स्टेट डेवलपर्स किस राज्य को सबसे ज्यादा पसंद करते हैं.

भारत के सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स, इन राज्यों में रहते हैं

महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य जहां पर सबसे ज्यादा अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स हैं. इस राज्य में कुल 37 रियल एस्टेट डेवलपर्स हैं, जो बहुत अमीर है. महाराष्ट्र में मंगल प्रभात लोढ़ा एंड फैमिली सबसे अमीर डेवलपर्स है, जिनकी संपत्ति 52,970 करोड़ रुपए हैं.
दिल्ली में भी सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स, रहने के लिए पसंद करते हैं. इस राज्य में कुल 23 ऐसे रियल एस्टेट डेवलपर्स जिनकी संपत्ति अरबों खरबों में है. दिल्ली में सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स राजीव सिंह है, जिनकी संपत्ति 61,220 करोड़ रूपए है.
कर्नाटक राज्य इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर आता है. कर्नाटक राज्य को भी रियल एस्टेट डेवलपर्स पसंद करते हैं. इस राज्य में सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स की संख्या 20 है. कर्नाटक राज्य में सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स, जितेंद्र विरवानी है जिनकी संपत्ति 23,620 करोड़ रूपए है.
तेलंगाना राज्य में भी सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स हैं. इस राज्य में रीयल एस्टेट डेवलपर्स, कुल 6 है. इन रियल एस्टेट डेवलपर्स की संपत्ति अरबों में है. कर्नाटक राज्य में सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स गववा अमरेंद्र रेडी और फैमिली है, इनकी कुल संपत्ति 15,000 करोड़ रुपए है.
गुजरात राज्य भी रियल स्टेट डेवलपर्स की सबसे पसंदीदा जगह है. इस राज्य में 4 रियल एस्टेट डेवलपर्स और उनकी संपत्ति करोड़ों में हैं. इस राज्य में सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स की बात करें तो संजय एस लाल भाई और फैमिली है, जिनकी कुल संपत्ति 520 करोड़ों रुपए हैं.
आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि मुंबई, दिल्ली और बैंगलोर भारत के 3 ऐसे शहर है, जहां पर सबसे अमीर रियल एस्टेट डेवलपर्स रहते हैं.
लेटेस्ट न्यूज़ के लिए इस वेबसाइट को सब्सक्राइब करें ताकि आने वाली नई खबर की नोटिफिकेशन सबसे पहले आप तक पहुंचे.

खबर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *